Monday, June 17, 2024
spot_img
ब्रेकिंग

महाविकास आघाडी का दावा ४ जून से आएंगे अच्छे दिन: महाराष्ट्र

पांचवे चरण का चुनाव प्रचार थम गया ,महाविकास आघाडी का दावा ४ जून से आएंगे अच्छे दिन… देश में आ रही है इंडिया की सरकार!

मुंबई
लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण का प्रचार कल शाम पांच बजे थम गया। इस बीच आखिरी दिन महाविकास आघाड़ी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जोरदार स्ट्राइक किया है। चार जून से हमारे देश से जुमला पर्व खत्म हो रहा है और साल २०१४ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो कहा था, उस अच्छे दिन की शुरुआत आगामी चार जून से होगी, क्योंकि देश में ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार आ रही है। यह विश्वास कल शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने व्यक्त किया।
महाविकास आघाड़ी की यह संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस  कल ग्रैंड हयात होटल में आयोजित की गई थी। इसमें उद्धव ठाकरे के साथ राकांपा (शरदचंद्र पवार) अध्यक्ष शरद पवार, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे समेत सहयोगी दल के नेता मौजूद रहे। इस दौरान विभिन्न विषयों पर टिप्पणी करते हुए उद्धव ठाकरे, खड़गे और पवार ने मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया और यह भी भविष्यवाणी की कि देश की हवा पर नजर डालें तो इस बार ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार आएगी।

‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार आने पर १० किलो अनाज देने की योजना, नरेंद्र मोदी की योजना को ध्यान में रखते हुए ली गई है, इसमें कोई सच्चाई नहीं है। उक्त योजना मनमोहन सिंह सरकार द्वारा खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत की है। यह योजना यूपीए सरकार द्वारा शुरू की गई थी। देश खाद्यान्न के मामले में आत्मनिर्भर है और गेहूं उत्पादन में दुनिया में दूसरे स्थान पर है।
-राकांपा अध्यक्ष

हमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की जरूरत नहीं, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का ऐसा कहना है। मतलब अब संघ को भी नकली संघ कहना ही बाकी रह गया है। अब मुझे लगता है कि संघ पर एक बड़ा खतरा मंडरा रहा है। मुझे डर है कि संघ पर भी प्रतिबंध लगा दिया जाएगा।
-शिवसेनापक्षप्रमुख

देश में विश्वासघात की राजनीति चल रही है। संविधान का दुरुपयोग जारी है। वे धमकी, ब्लैकमेल और लालच देकर विपक्ष को बांट रहे हैं। मूल पार्टी का चुनाव चिह्न छीनकर भाजपा समर्थक दलों को दिया जा रहा है। ये फैसला कोर्ट और चुनाव आयोग का है, लेकिन ये सब मोदी की इच्छा से हो रहा है। इसमें संदेह करने का कोई कारण नहीं है।
-कांग्रेस अध्यक्ष

उकसावे की कर रहे बयानबाजी : मोदी ने बढ़ाईं धार्मिक दूरियां! … शरद पवार का जोरदार हमला
राम मंदिर के मुद्दे पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (शरदचंद्र पवार) के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि इस देश में हिंदू, मुस्लिम और सिखों का सम्मान करना हमारा कर्तव्य है। चुनाव होने पर राहुल गांधी फिर से स्वतंत्रता सेनानी के खिलाफ बयानबाजी करने लगे हैं, इस तरह का आरोप भाजपा लगा रही है। इस सवाल का जवाब देते हुए राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि चुनावी मुद्दों में वीर सावरकर का कोई मुद्दा नहीं है और न ही राहुल गांधी ने इस संबंध में कोई टिप्पणी की है। मोदी बिना वजह उकसावे की बयानबाजी कर रहे हैं। उनका भाषण यानी धार्मिक दूरियां बढ़नेवाली हैं।
शरद पवार ने कहा कि आज देश के लिए सामाजिक एकता जरूरी है। प्रधानमंत्री जिनके ऊपर देश की जिम्मेदारी है, उन्हें तारतम्य दिखाने की जरूरत है। ये देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जो इस संबंध में तारतम्य नहीं दिखाते। ये इस देश का दुर्भाग्य है। शरद पवार ने तंज कसते हुए कहा कि मोदी सामाजिक और धार्मिक एकता को जगह नहीं देते।

वापस लाएंगे महाराष्ट्र का गौरव
इस दौरान शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि देश में सरकारी व्यवस्थाओं का दुरुपयोग हो रहा है। भ्रष्टाचार का आरोप लगाना, व्यक्ति को बदनाम करना फिर पार्टी में शामिल करना और उनका सम्मान करने का काम भाजपा कर रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार महाराष्ट्र को बदनाम करने के साथ ही लूटकर उसे गुजरात ले जा रही है। देश का आर्थिक केंद्र मुंबई मोदी को नहीं दिखाई देता है। उद्धव ठाकरे ने विश्वास व्यक्त किया कि मुंबई और महाराष्ट्र की इस लूट को इंडिया गठबंधन सरकार रोकेगी। साथ ही महाराष्ट्र का गौरव एक बार फिर से कई गुना अधिक वापस लाया जाएगा।

नवाज शरीफ के केक की याद
महाविकास आघाड़ी की प्रचार सभाओं में पाकिस्तान के झंडे लहराए जा रहे हैं। राहुल गांधी के समर्थन में पाकिस्तान से ट्वीट करने के भाजपा के आरोप से जुड़े एक सवाल के जवाब में उद्धव ठाकरे ने कहा कि भाजपा के मन में पाकिस्तान है। मोदी को नवाज शरीफ का केक याद आता है। इस केक का स्वाद अच्छा ही होगा इसलिए उन्हें लगातार पाकिस्तान की याद आ रही है। यदि कोई बच्चा भूख से रोने लगे तो उसे भूत-प्रेत की कहानियों से शांत नहीं किया जाता, क्योंकि उनके पेट में जलन हो रही है। मोदी और भाजपा ने अब तक यही किया है।

चुनाव जीतने के लिए पुलवामा हमला?
देश ने जब भुखमरी, रोजगार, नौकरियां, सुरक्षा की गुहार लगाई तो पाकिस्तान से डर दिखाया गया। पिछली बार पुलवामा का हमला हुआ था, उस पर जम्मू- कश्मीर के तत्कालीन राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भाजपा का जो भंडाफोड़ किया है, उसे लेकर उनके पास कोई जवाब नहीं है। सत्यपाल मलिक की जानकारी और आरोप बेहद गंभीर हैं। उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर भाजपा ने सिर्फ चुनाव जीतने के लिए यह हमला किया था क्या? इस तरह से उसका दूसरा मतलब भी हो सकता है।

चीन की घुसपैठ पर क्यों हैं चुप?
चुनाव प्रचार में पाकिस्तान के कथित झंडे के बारे में एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि मैंने कभी पाकिस्तान का झंडा नहीं देखा है इसलिए भाजपा को वह दिखाई दिया होगा, इसके बारे में पता है। मूलभूत समस्याओं पर ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के नरेटिव करने का प्लान है। लेकिन वह नहीं चलेगा, क्योंकि देश कहता है कि आपने दस साल तक क्या किया? आप पाकिस्तान को सबक सिखाने जा रहे थे, लेकिन पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर अभी तक नहीं मिला है। चीन की घुसपैठ जारी है। चीन लेह-लद्दाख में घुस रहा है। वहां सोनम वांगचुक भूख हड़ताल पर हैं, लेकिन मोदी-शाह उनके पास नहीं गए। चीन अरुणाचल में घुस चुका है। चीन ने हमारे गांवों के नाम बदल दिए हैं, लेकिन फिर भी वे बेशर्मी से कहते हैं कि नाम बदला भी तो क्या हुआ। उन्हें किसी से कोई लेना-देना नहीं है। उनका जोर केवल तोड़ो-फोड़ो और राजनीति करो।
पिछले दस साल मुसलमान सिर ऊपर नहीं कर सके इसलिए मुस्लिम कांग्रेस के साथ हैं। इस तरह का आरोप मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने किया था। इस सवाल के जवाब में उद्धव ठाकरे ने कहा कि शरद पवार को भटकती आत्मा कहा गया, लेकिन उनके पास कोई संवेदना है इसलिए इसका जिक्र करते हैं। उद्धव ठाकरे ने कहा कि मोदी ने सिर्फ मुसलमानों के बारे में ही नहीं, बल्कि मेरे बारे में भी नकली संतान होने का जिक्र किया। उनके आसपास बैठे लोगों ने ही क्या अक्ल के सितारे तोड़े हैं। लेकिन वे मुझे नकली कहते हैं इसलिए मैं उन्हें बेअकल कहता हूं।

पूरा करेंगे राम मंदिर का काम
उद्धव ठाकरे ने कहा कि ‘इंडिया’ गठबंधन सरकार के आने पर कांग्रेस राम मंदिर पर बुलडोजर चलाएगी। इस तरह का प्रचार चल रहा है, लेकिन ऐसा नहीं होगा। इसके विपरीत उन्होंने जिस राम मंदिर के काम को अधूरा छोड़ा हुआ है, उसे हमारी सरकार आने पर पूरा करेंगे। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने पूछा कि मोदी कहते हैं कि मुस्लिम हमारे साथ हैं, तो आप उत्तर भारतीय और जैन समुदाय को क्या जवाब देंगे।
ब्रह्मदेव नहीं हैं मोदी
‘इंडिया’ गठबंधन में प्रधानमंत्री पद के चेहरे पर कोई सहमति बनी है क्या और भाजपा का कहना है कि इंडिया गठबंधन के पास प्रधानमंत्री पद के लिए कोई चेहरा नहीं है? इस सवाल के जवाब में उद्धव ठाकरे ने कहा कि भाजपा को कुछ भी कहने दीजिए, क्योंकि न तो भाजपा और न ही नरेंद्र मोदी ही ब्रह्मदेव हैं। इंडिया गठबंधन देश में लोकतंत्र और स्वतंत्रता को बनाए रखने के लिए बना है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि प्रधानमंत्री ने यह माना है कि हमारे इंडिया गठबंधन में कई चेहरे हैं। एक साल में एक प्रधानमंत्री बन सकता है। उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि मोदी भी मानते हैं कि उनकी सरकार देश में नहीं आएगी। हमारे साथ चेहरा कौन है, इसका कोई सवाल ही नहीं है। लेकिन भाजपा के पास ये समस्या है, क्योंकि उनके पास एक ही चेहरा है और वो चेहरा काम नहीं कर रहा है। इंडिया गठबंधन की बैठक में प्रधानमंत्री पद का पैâसला हो गया है। लेकिन सच तो यह है कि उनके पास प्रधानमंत्री पद के लिए कोई चेहरा नहीं है। जैसा कि मोदी कहते हैं, वे एक ही चेहरे को कितनी बार लॉन्च करेंगे।

झूठे वादे से थक चुके हैं लोग!
पूरे देश की जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तानाशाही से तंग आ चुकी है। विपक्ष को खत्म करने और जनता से झूठे वादे करने के लिए सरकारी एजेंसियों के दुरुपयोग से लोग अब थक चुके हैं। दूसरी ओर, भाजपा को भी इस बात का एहसास हो गया है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में मोदी का चेहरा काम नहीं करेगा। इसलिए ‘इंडिया’ गठबंधन के नेताओं ने अपना दृढ़ विश्वास व्यक्त किया कि मोदी का जुमला पर्व ४ जून को समाप्त होगा। बता दें लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए चुनाव प्रचार कल शाम खत्म होने से पहले सांताक्रुज स्थित ग्रैंड हयात होटल में महाविकास आघाड़ी की संयुक्त प्रेस काॅन्फ्रेंस आयोजित की गई थी। इस काॅन्फ्रेंस में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार, शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे, शिवसेना नेता व सांसद संजय राऊत, शिवसेना सचिव मिलिंद नार्वेकर, कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी रमेश चेन्निथला, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले, पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, विधानसभा सदस्य व विपक्ष नेता विजय वडेट्टीवार, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता माणिकराव ठाकरे, नसीम खान, कांग्रेस मुंबई अध्यक्ष वर्षा गायकवाड, पूर्व सांसद हुसैन दलवई आदि उपस्थित थे।

४८ में से निश्चित ही ४६ सीटें जीतेंगे -खड़गे
मल्लिकार्जुन खड़गे ने मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग, धमकी और लालच दिखाकर विपक्षी दलों को तोड़ने का काम मोदी सरकार कर रही है। उन्होंने कहा कि असली पार्टियों से उनके चुनाव चिह्न चुराकर भाजपा समर्थक समूहों को दे दिए गए हैं। खड़गे ने आरोप लगाया कि यह आप कह सकते हैं कि यह केंद्रीय चुनाव आयोग का फैसला है, लेकिन सब कुछ मोदी की मर्जी से हो रहा है।

इस सरकार को सबक सिखाने का सही वक्त आ गया है! … कांग्रेस की कार्यकर्ता सभा में बोले सचिन अहिर

महाराष्ट्र इंटक की कार्यकर्ता सभा का आयोजन दादर के तिलक भवन में किया गया था। इस सभा में शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्ष के उपनेता और विधायक सचिन अहिर, भारतीय कांग्रेस पार्टी के महासचिव और प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी रमेश चेन्निथला मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। इसके अलावा इस सभा में महाविकास आघाड़ी दल के कई पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी उपस्थित हुए। इस मौके पर रमेश चेन्निथला ने कहा कि यह मोदी सरकार मजदूर और किसान वर्ग का गला घोंट रही है। नरेंद्र मोदी सरकार केवल अडानी और अंबानी जैसे उद्योगपतियों के कल्याण के बारे में ही सोचती है इसलिए देश के मजदूरों और किसानों को अपने अधिकारों के लिए सड़कों पर आना ही होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी का देशभर में सफल शांति मार्च कांग्रेस की ताकत बन गया है। अगर इस देश के मेहनती कार्यकर्ताओं को खुश रहना है तो इस सरकार को सत्ता से हटाना होगा।
वहीं विधायक सचिन अहिर ने कहा कि केंद्र ने श्रम कानूनों को तोड़कर मजदूर विरोधी ‘फोर कोड बिल’ पारित किया, इसे ‘काला कानून’ भी कहा जाता है। केंद्रीय वस्त्रोद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कोविड की आड़ में महाराष्ट्र सहित देशभर में २३ कपड़ा मिलों को बंद कर दिया। सचिन अहिर ने आगे कहा कि अब इस सरकार को सबक सिखाने का समय आ गया है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles